call or whatsapp for astrology,vastu services - 9899002983

गुप्त नवरात्र क्या होते है और क्या है महत्व




हिन्दू मान्यता  में आषाढ़ और माघ मास के शुक्ल पक्ष में पड़ने वाली नवरात्र को गुप्त नवरात्र कहा जाता है। इसके  बारे में ज्यादा लोगों को जानकारी नहीं होती है। ये  वाले  नवरात्र  तंत्र साधना आदि के लिए गुप्त नवरात्र बेहद विशेष माने जाते हैं। आइये जानते है क्या है gupt navratri महत्व 






gupt navratri meaning in hindi 




गुप्त नवरात्रि का महत्त्व (Importance of Gupt Navratri in Hindi)


 जिस तरह वर्ष में चार बार नवरात्र आते हैं और जिस प्रकार नवरात्रि में देवी के नौ रूपों की पूजा- अर्चना  की जाती है, बिलकुल  उसी तरह से गुप्त नवरात्र में तंत्र विद्या (दस महाविद्या) की साधना की जाती है।


दस महाविद्या देवी दुर्गा के दस रूप कहे जाते हैं. इन दस महाविद्याओं को तंत्र साधना में बहुत उपयोगी और महत्वपूर्ण माना जाता है.


गुप्त नवरात्रि विशेषकर तांत्रिक क्रियाएं, शक्ति साधना से जुड़े लोगों के लिए विशेष महत्त्व रखती है। इस दौरान देवी के साधक बेहद कड़े नियम के साथ व्रत और साधना करते हैं।
गुप्त नवरात्र के दौरान कई साधक तंत्र साधना के लिए मां काली, तारा देवी, त्रिपुर सुंदरी, भुवनेश्वरी, माता छिन्नमस्ता, त्रिपुर भैरवी, मां ध्रूमावती, माता बगलामुखी, मातंगी और कमला देवी की पूजा करते हैं।






पीपल के वृक्ष से परेशानियों को खत्म


Comments

Popular posts from this blog

अचानक धन लाभ भी देता है कपूर और भी है फायदे

धन की बरकत के लिए हिजड़े से ले सिक्का

धन लाभ व् बाधा समाप्ति के लिए लौंग के उपाय

धन की परेशानी दूर करते है हनुमानजी के अचूक उपाय

from the web

loading...